Sweden

FIFA World Cup 2018: स्वीडन को 2-0 से हराकर सेमीफाइनल में पहुंचा इंग्लैंड

by Team Patirap on Jul 9, 2018 No Comments

इंग्लैंड ने शनिवार को समारा में एकतरफा मुकाबले में स्वीडन को 2-0 से हराकर 1990 के बाद पहली बार फीफा विश्व कप के सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया। मैच के दौरान हैरी मैगुइरे और डेल एली ने शानदार गोल किए। हैरी मैगुइरे ने 30वें मिनट में इंग्लैंड का पहला गोल किया। कॉर्नर पर हैरी मैगुइरे ने एशले यंग से बायीं ओर से मिली गेंद पर हेडर से गेंद को जाल में डाल दिया। जो मैच नीरस सा नजर आ रहा था, उसमें अचानक जान आ गई है। समारा एरिना में जश्न का माहौल हो गया। ये हैरी मैगुइरे का विश्व कप का पहला गोल है।

अभी पढ़े: FIFA World Cup 2018: बेल्जियम ने ब्राजील को 2-1 से मात देकर विश्व कप से किया बाहर

समर्थकों में दौड़ गई खुशी की लहर

जबकि डेल एली ने 59वें मिनट में दूसरा गोल दागा। दरअसल, डेल एली ने जब दूसरा गोल दागा तो स्टेडियम में मौजूदा इंग्लैंड के समर्थकों में खुशी की लहर दौड़ गई। हुआ कुछ यूं की गेंद काफी देर से स्वीडिश पेनल्टी एरिया में मंडरा रही थी। जेसी लिंगार्ड ने लाफ्टेड क्रास दिया और गोल के सामने अकेले खड़े डेल एली ने परफेक्शन का नमूना दिखाते हुए हेडर से गोल कर दिया। इस तरह इंग्लैंड ने अपनी बढ़त 2-0 कर दी।

अभी पढ़े: FIFA World Cup 2018: उरुग्वे को 2-0 से हराकर सेमीफाइनल में पहुंचा फ्रांस

सेमीफाइनल में क्रोएशिया से होगा इंग्लैंड का सामना

आखिरी पलों में स्वीडन ने वापसी की कोशिशें की लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी। इंग्लैंड 1990 में इटली में खेले गए विश्व कप में चौथे स्थान पर रहा था, लेकिन इसके बाद वह कभी सेमीफाइनल में कदम नहीं रख सका। 9 प्रतिस्पर्धी मैचों में स्वीडन पर इंग्लैंड की यह दूसरी जीत है। अब उसका सामना 11 जुलाई को सेमीफाइनल में मेजबान क्रोएशिया से होगा।

FIFA World Cup 2018: स्विट्जरलैंड को 1-0 से मात देकर क्वार्टर फाइनल में पहुंची स्वीडन

by Team Patirap on Jul 4, 2018 No Comments

स्वीडन ने मंगलवार को सेंट पीटर्सबर्ग स्टेडियम में खेले गए अंतिम-16 के मैच में स्विट्जरलैंड को 1-0 से मात देकर फीफा विश्व कप के 21वें संस्करण के क्वार्टर फाइनल में जगह बना ली। स्वीडन ने 1994 के बाद पहली बार विश्व कप के अंतिम-8 चरण के लिए क्वालीफाई किया है। इस हार के साथ ही स्विट्जरलैंड का 64 साल बाद क्वार्टर फाइनल में जाने का सपना टूट गया। उसने 1954 में अपनी मेजबानी में हुए विश्वकप में क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया था।

अभी पढ़े: FIFA World Cup 2018: जापान को 3-2 से हरा क्वार्टर फाइनल में पहुंचा बेल्जियम

किस्मत ने दिया स्वीडन का साथ

दोनों टीमों ने लगातार कई मौके बनाए। किस्मत ने हालांकि स्वीडन का साथ दिया और 66वें मिनट में उसके हिस्से गोल आया। ओला टोइवोनेन ने बाएं छोर से बॉक्स के बाहर से फोर्सबर्ग के गेंद दी। फोर्सबर्ग ने मौका जाया नहीं किया और झन्नाटेदार शॉट लगाया। गेंद गोलकीपर की तरफ जा रही थी तभी स्विट्जरलैंड के सोमर के पैर से गेंद टकरा कर गोलपोस्ट में चली गई और स्वीडन की टीम 1-0 से आगे हो गई।

तमाम प्रयासों के बाद बाहर स्विट्जरलैंड की टीम

स्वीडन की बढ़त से बौखलाई स्विट्जरलैंड को येलो कार्ड मिला। दरअसल, उनके टीम खिलाडी शाका को 71वें मिनट में येलो कार्ड दिया गया। जिसके बाद तमाम प्रयासों के बाद भी स्विट्जरलैंड की टीम कोई बड़ा मौका नहीं बना पा रही थी। इसी बीच इंजुरी टाइम में स्विट्जरलैंड के लैंग ने स्वीडन के ओल्सन को गिरा दिया और रेफरी ने पेनल्टी दी। लेकिन ओल्सन बॉक्स के बाहर गिरे थे और स्वीडन के हिस्से से पेनल्टी चली गई।