Mary Kom

World Boxing Championship: फाइनल में पहुंची मैरी कॉम, किम को 5-0 से दी मात

by Team Patirap on Nov 23, 2018 No Comments

एमसी मैरीकॉम ने गुरुवार को विश्व चैंपियनशिप के फाइनल में प्रवेश कर लिया है। 35 वर्षीय मैरी (48 किग्रा) सेमीफाइनल में उत्तर कोरिया की किम ह्यांग मी को एकतरफा मुकाबले में 5-0 से मात देकर खिताबी मुकाबले में पहुंचीं। यह उनका सातवां फाइनल है। अब छठे विश्व खिताब के लिए मैरी का सामना शनिवार को यूक्रेन की हाना ओखोता से होगा।

यह भी पढ़े: T-20: रोमांचक मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 4 रन से हराया

5 स्वर्ण पदक जीत चुकी हैं मैरीकॉम

अगर यह मणिपुरी मुक्केबाज स्वर्ण पदक जीत जाती हैं तो वह रिकॉर्ड छह पीले तमगे जीतने वाली दुनिया की पहली मुक्केबाज बन जाएंगी। उन्होंने अब तक पांच स्वर्ण और एक रजत पदक जीता है।

यह भी पढ़े: PKL 6: गुजरात फॉर्च्यून जायंट्स ने यू मुंबा को 39-35 से पछाड़ा

कैटी के नाम हैं समान रिकॉर्ड

मैरी ने 2001 में हुई पहली महिला बॉक्सिंग चैंपियनशिप में रजत जीता था। इसके बाद 2002, 2005, 2006, 2008, 2010 में स्वर्ण जीते। आयरलैंड की दिग्गज कैटी और मैरी के एक समान पांच-पांच स्वर्ण हैं।

World Boxing Championship: सेमीफाइनल में पहुंची मैरी कॉम, सुनिश्चित किया पदक

by Team Patirap on Nov 20, 2018 No Comments

पांच बार की विश्व चैम्पियन मैरीकॉम ने 48 किग्रा प्रतिस्पर्धा में चीन की वू यू को 5-0 से हराकर सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया है। भारत की अनुभवी मुक्केबाज एम सी मैरीकॉम ने दिल्ली में जारी 10वीं AIBA विश्व महिला मुक्केबाजी चैम्पियनशिप के क्वार्टर फाइनल में जीत दर्ज कर इस टूर्नामेंट में अपने करियर का 7वां और इस साल भारत का पहला मेडल सुनिश्चित कर लिया है।

यह भी पढ़े: PKL 6: गुजरात फॉर्च्यून जायंट्स ने यूपी योद्धा को 37-32 से पछाड़ा

सुनिश्चित किया भारत का पहला पदक

गौरतलब है कि विश्व चैम्पियनशिप में मैरी कॉम के नाम 5 गोल्ड और 1 सिल्वर मेडल हैं। उन्होंने आखिरी बार 2010 में गोल्ड जीता था, जिसके साथ ही उन्होंने महान आयरिश बॉक्सर केटी टेलर के रिकॉर्ड की बराबरी कर ली थी। इससे पहले, मैरी कॉम ने कजाकिस्तान की ऐजरिम कासेनायेवा को 5-0 से मात देकर क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया था।

अंतिम-8 में पहुंचें भारत के 8 मुक्केबाज

बता दें कि भारत के कुल आठ मुक्केबाज इस चैम्पियनशिप के अंतिम-8 में पहुंचने में सफल रहे हैं। इन तीनों में से पहले मैरी कॉम, मनीषा मौन, लवलिना बोरगोहेन और भाग्यबती कचारी, सीमा पूनिया ने क्वार्टर फाइनल का टिकट कटाया था।

Women’s World Championship: मैरीकॉम बनी ब्रांड एंबेसडर, बोली- ‘संन्यास का कोई इरादा नहीं’

by Team Patirap on Nov 1, 2018 No Comments

5 बार की विश्व चैंपियन मुक्केबाज एमसी मैरीकॉम को 15 से 24 नवंबर तक होने वाली आईबा महिला विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप की ब्रांड एम्बेसेडर बनाया गया है। राजधानी के आईजी स्पोर्ट्स कॉम्पलैक्स स्थित केडी जाधव हॉल में बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया (बीएफआई) ने वूमेंस वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप का ‘लोगो’ और गीत लांच करते हुए इस बात की घोषणा की गई।

अभी पढ़े: PKL 6: पुणेरी पलटन ने दबंग दिल्ली को 31-27 से हराया

अच्छा प्रदर्शन करने को तैयार मैरीकॉम

ओलंपिक पदक विजेता मुक्केबाज मैरीकॉम ने अपने लिए इसे एक गौरवपूर्ण क्षण बताते हुए कहा, ‘मैं मुक्केबाजी संघ का धन्यवाद करना चाहती हूं, जिसने मुझे ब्रांड एम्बेसेडर चुना है। हम इस समय काफी मजबूत हैं और विश्व चैंपियनशिप में अच्छा प्रदर्शन करने तथा देश के लिए स्वर्ण पदक जीतने को तैयार हैं।’

अभी पढ़े: ISL 5: नार्थईस्ट यूनाईटेड ने दिल्ली डायनामोज को 2-0 से रौंदा

मैरीकॉम ने कहा, ‘संन्यास लेने का कोई इरादा नहीं’

स्टार महिला मुक्केबाज एमसी मैरीकॉम ने इस बीच बुधवार को अपने संन्यास को लेकर भी बड़ा बयान दिया। उन्होंने कहा कि उनका फिलहाल संन्यास लेने का कोई इरादा नहीं है और वह 2020 तोक्यो ओलंपिक तक खेलना चाहती है। जबकि, मेरीकोम विश्व चैंपियनशिप में 10 सदस्यीय भारतीय दल की अगुवाई करेगी।

उन्होंने कहा, ‘अभी मेरे भीतर काफी खेल बाकी है। मैं 2020 तक खेलूंगी। मैं फिट हूं और आत्मविश्वास से ओतप्रोत भी। मैं देश के लिये सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन की कोशिश करूंगी।’

‘मैरीकॉम’ बनी ट्राइब्स इंडिया की ब्रांड एंबेस्डर

by Team Patirap on Sep 28, 2018 No Comments

पांच बार की विश्व चैंपियन और ओलंपिक पदक विजेता महिला मुक्केबाज एमसी मैरीकॉम को गुरुवार को ट्राइब्स इंडिया का ब्रांड एंबेस्डर बनाया गया जो जनजातीय मामलों के मंत्रालय की पहल है। दरअसल, केंद्रीय जनजातीय मामलों के मंत्री जुएल ओराम ने गुरुवार को यहां एक समारोह में मैरीकॉम को ट्राइब्‍स इंडिया का एंबेसडर घोषित किया।

अभी पढ़े: विश्व शतरंज ओलम्पियाड: भारतीय महिलाओं के आगे फ़ीके पड़े पुरुष, ऐसे खा बैठे मात

ट्राइब्स इंडिया की ब्रांड दूत बनकर खुश है मैरीकॉम

मैरीकॉम ने समारोह के दौरान कहा कि ‘अच्छी पहल के लिए मैं जनजातीय मामलों की ब्रांड दूत बनकर खुश हूं। मैं मणिपुर से हूं और उम्मीद करती हूं कि ट्राइब्स इंडिया के साथ मेरे जुड़ाव से जनजातीय समुदाय के जीवन में बड़ा वित्तीय और आर्थिक बदलाव आएगा।’

अभी पढ़े: Asia Cup 2018: 7वीं बार खिताब हासिल करने उतरेगा भारत, बांग्लादेश से होगी टक्कर

लोगों की मदद करने की कोशिश करेगी मैरीकॉम

मैरीकॉम ने आगे कहा ‘मैं अपनी तरफ से जनजातीय लोगों की मदद करने की कोशिश करूंगी। इस दौरान पंच तंत्र एक्सक्यूसिव कलेक्शन भी पेश की गई जो पांरपरिक जनजातीय हस्तशिल्प और हथकरघा उत्पाद हैं।’

इस अवसर पर आदिवारी उत्‍पादों के चार वीडियो विज्ञापन को भी प्रदर्शित किया गया, जिसमें मैरीकॉम इनका प्रचार कर रही हैं। ट्राइब्‍स इंडिया भारतीय आदिवासी समाज द्वारा निर्मित उत्‍पादों की बिक्री करता है। इसकी देशभर में दुकान और बिक्री केंद्र हैं।