Hima Das

हिमा दास बनी यूनिसेफ इंडिया की युवा एंबेसडर

by Team Patirap on Nov 15, 2018 No Comments

एशियाई खेलों की स्वर्ण पदक विजेता हिमा दास को बुधवार को संयुक्त राष्ट्र बाल निधि (यूनिसेफ) इंडिया का युवा एंबेसडर बनाया गया है। हिमा बच्चों के अधिकारों और आवश्यकताओं के बारे में जागरुकता बढ़ाने, बच्चों और युवाओं की आवाज को मजबूत करने का काम करेंगी। यूनिसेफ इंडिया ने ट्वीट किया कि हमारी युवा एंबेसडर, हिमा दास हैं।

अभी पढ़े: PKL 6: तमिल थलाइवाज के खिलाफ हरियाणा स्टीलर्स ने खेला टाई मुकाबला

पहली युवा एंबेसडर बनी हिमा दास

बाल दिवस उत्सव के अवसर पर हिमा दास यूनिसेफ इंडिया की पहली युवा एंबेसडर बनी। हिमा दास ने जुलाई 2018 में फिनलैंड में आयोजित आईएएफ विश्व अंडर-20 चैम्पियनशिप की महिलाओं की 400 मीटर स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीतकर इतिहास रचा था।

2020 में पदक लाने की प्रबल दावेदार

इससे पहले, वह अप्रैल में गोल्ड कोस्ट में हुए राष्ट्रमंडल खेलों की 400 मीटर स्पर्धा में तत्कालीन भारतीय अंडर 20 रिकॉर्ड 51. 32 सेकेंड के समय के साथ छठे स्थान पर रही थीं। हिमा दास 2020 टोक्यों में होने जा रहे इंटरनेशनल एथलीटिक्स मीट में देश के लिए पदक लाने की प्रबल दावेदार हैं।

Asian Games 2018: भारत के दुती चंद, अनस और हिमा दास की चांदी, मिले 3 रजत पदक

by Team Patirap on Aug 27, 2018 No Comments

एथलेटिक्स में भारत ने अच्छे प्रदर्शन करते हुए 18वें एशियाई खेलों के आठवें दिन रविवार को कुल तीन रजत पदक जीते। जिसमे दुती चंद ने 100 मीटर, मोहम्मद अनस ने पुरुषों की 400 मीटर और हिमा दास ने महिलाओं की 400 मीटर में रजत पदक हासिल किया।

अभी पढ़े: Ireland vs Afghanistan, 2rd T20I: 81 रन से हारा आयरलैंड, अफगानिस्तान ने जीती सीरीज

फाइनल में हिमा ने हासिल किया दूसरा स्थान

महिलाओं की 400 मीटर दौड़के फाइनल में हिमा ने 50.79 सेकेंड के समय के साथ दूसरा स्थान हासिल किया और रजत पदक अपने नाम किया। 18 साल की हिमा ने 50.79 सेकेंड का समय निकालकर अपना ही राष्ट्रीय रिकॉर्ड तोड़ा जो उन्होंने सेमीफाइनल में बनाया था।

अभी पढ़े: Box Office Collection: 100 करोड़ी बनने से एक कदम दूर हैं ‘गोल्ड’, साथ दौड़ने लगी ‘हैप्पी’

विश्व चैम्पियनशिप में जीता था स्वर्ण पदक

असम की रहने वाली हिमा ने इस वर्ष आईएएएफ अंडर-20 विश्व चैम्पियनशिप में स्वर्ण पदक जीता था, लेकिन यहां वह अपने पदक का रंग बदलने में कामयाब नहीं हो पाई। हिमा एक समय बहरीन की सल्वा नासिर के काफी करीब थीं, लेकिन आखिर में वह पीछे रह गईं।

नासिर ने 50.09 सेकेंड के साथ स्वर्ण जीता। यह नया एशियाई रिकॉर्ड है। कजाकिस्तान की एलिना मिखिना को कांस्य पदक मिला। मिखिना ने 52.63 सेकेंड समय निकाला। इस स्पर्धा में शामिल भारत की एक अन्य एथलीट निर्मला को चौथा स्थान मिला। निर्मला ने 52.96 सेकेंड समय लिया।

भारतीय एथलिट हिमा दास की सराहना करने उतरा बॉलीवुड, ऐसे लूटी वाह वाहियां

by Team Patirap on Jul 14, 2018 No Comments

आईएएएफ टूर्नामेंट में इतिहास रचने वाली भारतीय एथलिट हिमा दास की सराहना करने में ना सिर्फ आज स्पोर्ट्स समर्थक बल्कि बॉलीवुड की दिग्गज हस्तियों ने भी हाथ उठाकर वाह वाहियां की हैं। दरअसल, आईएएफ वल्र्ड अंडर-20 चैम्पियनशिप की महिलाओं की 400 मीटर स्पर्धा में हिमा ने स्वर्ण जीत कर इतिहास रचा है। हिमा ने राटिना स्टेडियम में खेले गए फाइनल में 51.46 सेकंड का समय निकालते हुए जीत हासिल की।

इसे भी पढ़े: जाह्नवी कपूर का खुलासा, बोली- ‘दबाव है लेकिन मैं ध्यान नहीं देती’

स्वर्ण जीतने वाली भारत की पहली महिला

ऐसे में हिमा दास की सराहना में अमिताभ बच्चन, शत्रुघ्न सिन्हा और अक्षय कुमार जैसे मशहूर फिल्म एक्टर सबसे ज्यादा सुर्खियां बटोर रहे हैं। हिमा दास की यह जीत सभी प्रशंसको भा चुकी हैं। इसी के साथ वह इस चैम्पियनशिप में सभी आयु वर्गो में स्वर्ण जीतने वाली भारत की पहली महिला बन गई हैं। ऐसे में देश की नई ‘उड़नपरी’ के बुलंद हौसलों की वाहवाही करने में सभी ने ट्वीट के जरिए उनकी उपलब्धि के लिए बधाई दी है।

इसे भी पढ़े: शादी की खबरों पर प्रियंका ने तोड़ी चुप्पी, कही ये बड़ी बात…

आ रहे हैं बधाइयों के संदेशे

इस वक्त पूरा देश हिमा दास पर गर्व महसूस कर रहा है और राष्ट्रपति से लेकर प्रधानमंत्री तक ने उन्हें शुभकामनाएं दी है। आसाम की रहने वाली हिमा दास ने भारत का सिर दुनिया में ऊंचा कर दिखाया है और उनकी इस कामयाबी के लिए हिंदुस्तान के कोने-कोने से बधाइयों के संदेशे आ रहे हैं। वहीं, बॉलीवुड की दुनिया से भी दिग्गज कलाकार हिमा दास की इस उपलब्धि पर फूले नहीं समां रहे हैं।

विश्व अंडर-20 एथलेटिक्स चैंपियनशिप का आयोजन फिनलैंड के टैम्पेयर शहर में आयोजित किया गया था। इस दौड़ को पूरा करने में हिमा दास को तकरीबन 51.46 सेकण्ड्स लगे। इस दौड़ में रोमानिया की एंड्रिया मिकलोस को अमरीका की टेलर मैंसन को हरा कर गोल्ड पर कब्जा किया। रोमानिया की एंड्रिया मिकलोस को सिल्वर और अमरीका की टेलर मैंसन को ब्रॉन्ज़ मेडल से संतोष करना पड़ा।