Croatia

FIFA World Cup 2018: फ्रांस के नाम रहा विश्व कप का खिताब, क्रोएशिया को 4-2 से हराया

by Team Patirap on Jul 16, 2018 No Comments

रूस में खेले गए फीफा फुटबाल विश्व कप के 21वें संस्करण में विश्व कप का खिताब फ्रांस के नाम रहा। फाइनल में फ्रांस ने क्रोएशिया को 4-2 से हराकर खिताब जीता, जो उसका दूसरा खिताब है। इससे पहले 1998 में उसने पहला खिताब जीता था। दूसरी ओर इंग्लैंड को सेमीफाइनल तक पहुंचाने वाले कप्तान हैरी केन टूर्नामेंट में गोल्डन बूट का पुरस्कार जीतने में सफल रहे।

इसे भी पढ़े: FIFA World Cup 2018: इंग्लैंड को 2-0 से हरा कर बेल्जियम ने हासिल किया तीसरा स्थान

हैरी केन ने जीता गोल्डन बूट अवार्ड

केन ने टूर्नामेंट के छह मैचों में छह गोल किए। केन 32 वर्षों में इंग्लैंड के पहले ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्होंने गोल्डन बूट का पुरस्कार जीता है। इससे पहले इंग्लैंड के गेरी लिनेकर ने 1986 में छह गोल के साथ गोल्डन बूट अवार्ड जीता था। केन हालांकि इस पुरस्कार को पाने के लिए व्यक्तिगत रूप से यहां उपलब्ध नहीं थे क्योंकि वह दोपहर ही इंग्लैंड रवाना हो चुके थे।

गोल करने के मामले में किसका कौनसा स्थान ?

बेल्जियम के रोमेलु लुकाकू चार गोल के साथ दूसरे, मेजबान रूस के डेनिस चेरिशेव पांच मैचों में चार गोल के साथ तीसरे और पुर्तगाल के क्रिस्टियानो रोनाल्डो चार मैचों में चार गोल के साथ चौथे नंबर पर रहे। विजेता फ्रांस के एंटोनियो ग्रीजमैन ने सात मैचों में चार गोल किए।

कीलियन एम्बाप्पे बने सर्वश्रेष्ठ युवा खिलाड़ी

फ्रांस के फारवर्ड कीलियन एम्बाप्पे अपना पहला विश्व कप खेल रहे थे और उन्होंने सात मैचों में चार गोल किए। इस वहज से वह टूर्नामेंट के सर्वश्रेष्ठ युवा खिलाड़ी चुने गए।

थिबाउट कुर्टियोस ने जीता गोल्डन ग्लव्स अवार्ड

बेल्जियम के गोलकीपर थिबाउट कुर्टियोस को शानदार गोलकीपिंग के लिए गोल्डन ग्लव्स का पुरस्कार दिया गया। उन्होंने इस विश्व कप में सबसे ज्यादा 27 बचाव किए जिसके कारण वह इस पुरस्कार के हकदार बने।

लुका मोड्रिक ने जीता गोल्डन बॉल अवार्ड

मौजूदा समय में दुनिया के सर्वश्रेष्ठ मिडफील्डर माने जाने वाले क्रोएशिया के लुका मोड्रिक को गोल्डन बॉल का पुरस्कार प्रदान किया गया। मोड्रिक ने टूर्नामेंट के सात मैचों में तीन गोल किए।

FIFA World Cup 2018: इंग्लैंड को 2-1 से हरा कर पहली बार फाइनल में पहुंचा क्रोएशिया

by Team Patirap on Jul 12, 2018 No Comments

क्रोएशिया ने फीफा विश्व कप 2018 के दूसरे सेमीफाइनल में इंग्लैंड को 2-1 से हरा दिया। इतना ही नहीं खेले गए इस बेहद रोमांचक मुकाबले में क्रोएशिया ने ना सिर्फ इंग्लैंड को हराया बल्कि उनके सपने को तोड़ते हुए इतिहास भी रच दिया और विश्व कप के फाइनल में पहली बार जगह बना ली। अब फाइनल में क्रोएशिया का मुकाबला फ्रांस से साथ होगा।

अभी पढ़े: FIFA World Cup 2018: बेल्जियम को 1-0 से मात देकर फ्रांस की फाइनल में एंट्री

इंग्लैंड ने की तेज शुरुआत

हालांकि इंग्लैंड ने मैच में काफी तेज शुरुआत की। टीम को 5वें ही मिनट में मैच की पहली फ्री किक मिली जब क्रोएशिया के कप्तान लुका मोड्रिच ने डेले अली के खिलाफ फाउल किया। फ्री किक लेने की जिम्मेदारी ट्रिपियर को सौंपी गई, जिन्होंने 20 गज की दूरी से दमदार शॉट लगाकर गेंद को गोल के अंदर पहुंचा दिया। ऐसे में पहले हाफ तक क्रोएशिया स्कोर बराबर करने के लिए जूझती रही।

अतिरिक्त समय में मांजुकिच ने दागा गोल

लेकिन दूसरे हाफ में 68वें मिनट में इवान पेरिसिच ने क्रोएशिया को बराबरी दिला दी। इस तरह शुरुआत में पिछड़ने के बाद क्रोएशिया ने दूसरे हाफ में गोल कर स्कोर बराबर किया और निर्धारित समय के बाद मैच 1-1 से बराबर था, जिसके बाद मांजुकिच ने अतिरिक्त समय के दूसरे हाफ में 119वें मिनट में गोल दागकर क्रोएशिया को विश्व कप इतिहास में पहली बार फाइनल में जगह दिला दी।

FIFA World Cup 2018 : पेनाल्टी शूटआउट में रूस को 4-3 से हरा सेमीफाइनल में पहुंचा क्रोएशिया

by Team Patirap on Jul 9, 2018 No Comments

क्रोएशिया ने पेनाल्टी शूटआउट तक गए फीफा विश्व कप के एक रोमांचक क्वार्टर फाइनल मुकाबले में रूस को 4-3 (2-2) में हराकर अगले दौर में जगह बना ली है। फिश्ट स्टेडियम में शनिवार देर रात खेले गए मुकाबले में निर्धारित समय तक स्कोर 1-1 रहा और अतिरिक्त समय में भी दोनों टीमों ने एक-एक गोल किया जिसके कारण विजेता का फैसला पेनाल्टी शूटआउट द्वारा किया गया।

इसे भी पढ़े: FIFA World Cup 2018: स्वीडन को 2-0 से हराकर सेमीफाइनल में पहुंचा इंग्लैंड

इवान रेकिटिच ने दागा विजयी गोल

पेनाल्टी शूटआउट में क्रोएशिया के चार खिलाड़ियों ने गोल दागे जबकि रूस के तीन खिलाड़ी ही गोल कर पाए। शूटआउट से पहले क्रोएशिया के लिए एंद्रेज करामारिक (39वें मिनट) और डोमागोज विदा (101 मिनट) ने गोल दागा जबकि रूस के लिए डेनिस चेरीशेव (31वें मिनट) और मारियो फनार्डेज (115वें मिनट) ने गोल किया। छठे मिनट में क्रोएिशया ने काउंटर अटैक करके कॉर्नर अर्जित किया, हालांकि वे शुरुआती बढ़त बनाने में कामयाब नहीं हो पाए।

इसे भी पढ़े: IND vs ENG: इंग्लैंड ने भारत को 5 विकेट से शिकस्त देकर सीरीज में 1-1 से की बराबरी

रूस को पेनल्टी शूटआउट में किया बाहर

रूस के मिडफील्डर डेनिस चेरीशेव ने 31वें मिनट में बॉक्स के बाहर 25 गज के दूरी से दमदार गोल दागकर अपनी टीम को 1-0 की बढ़त दिला दी। इसके आठ मिनट बाद, स्ट्राइकर मारियो मांजुकिक ने बाईं छोर से बॉक्स में एंद्रेज करामारिक को क्रॉस दिया जिन्होंने हेडर से गोल करके अपनी टीम को बराबरी दिला दी। अतिरिक्त समय में डोमागोज विदा (101 मिनट) ने क्रोएशिया को 2-1 की महत्वपूर्ण बढ़त दिला दी।

20 साल बाद सेमीफाइनल में पहुंचा क्रोएशिया

115वें मिनट में मारियो फनार्डेज ने मेजबान टीम के लिए बराबरी का गोल दागा और मैच का पेनाल्टी शूटआउट तक गया जहां क्रोएशिया ने बाजी मारी। क्रोएशिया 1998 में हुए विश्व कप के बाद पहली बार इस टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में प्रवेश करने में कामयाब हुआ है जहां उसका सामना बुधवार को इंग्लैंड से होगा।

FIFA World Cup 2018: डेनमार्क को शूटआउट में 3-2 से हराकर क्वार्टरफाइनल में पहुंचा क्रोएशिया

by Team Patirap on Jul 2, 2018 No Comments

क्रोएशिया ने रविवार को फीफा विश्व कप 2018 के बेहद रोमांचक मैच में डेनमार्क को पेनल्टी शूटआउट में 3-2 से हराकर क्वार्टरफाइनल में प्रवेश किया। दोनों टीमों के बीच फुलटाइम तक स्कोर 1-1 की बराबरी पर था। इसके बाद पेनल्टी शूटआउट में फैसला निकला और अंतिम यानी पांचवीं किक पर क्रोएशिया ने मुकाबला अपने नाम किया। अब क्रोएशिया का अगले सप्ताह शनिवार को क्वार्टरफाइनल में रूस से मुकाबला होगा।

अभी पढ़े: FIFA World Cup 2018: स्पेन को 4-3 से शूटआउट कर रूस ने क्वार्टर फाइनल में बनाई जगह

मथायस जर्गेनसन ने दागा सबसे तेज गोल

डेनमार्क और क्रोएशिया के बीच मुकाबला शुरुआत से ही बेहद रोमांचक हुआ। डेनमार्क के जर्गेनसन ने पहले मिनट के अंदर ही गोल दागकर टीम को 1-0 की बढ़त दिलाई। मथायस जर्गेनसन ने मैच के 57वें सेकंड में गोल दागा जो 2014 विश्व कप के बाद सबसे तेज गोल है। क्लिंट डेंप्से ने पिछले विश्व कप में घाना के खिलाफ सिर्फ 29वें सेकंड में गोल दागा था।

अभी पढ़े: FIFA World Cup 2018: उरुग्वे ने पुर्तगाल को 2-1 से हराया

पेनल्टी शूटआउट के जरिए क्रोएशिया विजेता घोषित

हालांकि क्रोएशिया ने तीन मिनट के बाद ही बराबरी की। मारियो मानड्जूकिक ने बेहतरीन गोल करके क्रोएशिया को बराबरी दिलाई। पहले हाफ व दूसरे हाफ तक स्कोर 1-1 की बराबरी पर रहा। अंतिम पलों में क्रोएशिया को पेनल्टी मिली थी, लेकिन मोड्रिक ने खराब शॉट खेला और डेनमार्क के गोलकीपर शेमीचेल ने बेहतरीन बचाव किया। फिर विजेता का फैसला पेनल्टी शूटआउट के जरिए हुए, जिसमें क्रोएशिया विजेता घोषित हुआ।