आज ही के दिन बने थे चैंपियन, 7 साल पहले भारत ने यूं रचा था इतिहास

Team Patirap on Apr 2, 2018 No Comments 148 Views

आज ही के दिन बने थे चैंपियन, 7 साल पहले भारत ने यूं रचा था इतिहास

1983 में कपिल देव की कप्तानी में वर्ल्ड चैंपियन बनने के बाद से टीम इंडिया कई बार जीत तक पहुंची तो सही, लेकिन अहम मुकाबलों में हारकर इससे वंचित रह जाती थी, लेकिन धोनी ने 7 साल पहले आज ही के दिन (2 अप्रैल, 2011) को ऐसा कारनामा कर दिखाया था जिसे शायद ही कोई क्रिकेट प्रेमी भूल पाए। जी हां, आज हम बात कर रहे हैं साल 2011 में मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में श्रीलंका की ओर से रखे गए 275 रनों की, जिसके अंत में भारत के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने अपनी चिरपरिचित वाली स्टाइल के साथ ‘विनिंग सिक्स’ लगाकर भारत को पुरे 28 साल बाद चैंपियन बनाया था।

अभी पढ़े: IPL 2018: KKR के पूर्व कप्तान गौतम गंभीर ने जो किया काबिलेतारीफ – दिनेश कार्तिक

दूसरी बार क्रिकेट वर्ल्ड कप किया अपने नाम

दो अप्रैल को ही 2011 में भारत ने श्री लंका को हराकर दूसरी बार क्रिकेट वर्ल्ड कप अपने नाम किया था। इस फाइनल मैच में जहीर खान, गौतम गंभीर और महेंद्र सिंह धोनी उसके हीरो रहे थे। जबकि शानदार फॉर्म में चल रहे युवराज सिंह ने हर मैच की तरह इस मुकाबले में भी क्रीज पर धोनी का जमकर साथ निभाया था। वही विराट कोहली ने इस इवेंट में ही अपने वनडे इंटरनैशनल करियर की पहली सेंचुरी लगाई थी।

अभी पढ़े: IPL 2018: विराट कोहली बने सबसे महंगे कप्तान, तो गौतम का स्थान रहा काफी गंभीर

धोनी ने छक्का लगाकार बनाया चैंपियन

फाइनल मैच में धोनी ने छक्का लगाकार कप को भारत के नाम कर दिया था। उस समय श्रीलंका की ओर से रखे गए 275 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए टीम इंडिया ने 114 रन पर तीन विकेट खो दिए थे। वीरेंद्र सहवाग, सचिन तेंदुलकर और विराट कोहली जैसे बल्लेबाज लौट चुके थे। कोहली के आउट होने पर लग रहा था कि शानदार फॉर्म में चल रहे युवराज सिंह क्रीज पर आएंगे, लेकिन धोनी ने हमेशा की तरह सबको चौंकाते हुए क्रीज की ओर अपने कदम बढ़ा दिए। धोनी ने छक्का लगाकार चैंपियन बनाया।

धोनी अपनी 91 रनों की पारी में 79 गेंदों का सामना किया और टीम को 6 विकेट से जीत दिलाई। क्रिकेट टीम के साथ-साथ खेल प्रेमियों की आंखों में भी उस दिन खुशी के आंसू थे। धोनी की कप्तानी में टीम इंडिया ने कई कीर्तिमान रचे। पहला टी-20 वर्ल्ड कप जीता, टेस्ट में टीम को नंबर वन बनाया, आईसीसी चैंपियन्स ट्रॉफी जीती, लेकिन सबसे सुनहरा मौका तब आया जब भारत ने 28 साल बाद वनडे वर्ल्ड कप पर कब्जा किया।

No Comments

Reader Interactions